.

Ramayan all Episode सम्पूर्ण रामायण – उतर रामायण सहित ||

Ramayan all Episode: उत्तर-वैदिक काल में रचित और ‘स्मृति’ के नाम से जाने जाने वाले शास्त्रों में स्मृतिग्रंथों के अलावा रामायण भी शामिल है।

यद्यपि रामायण बाद के समय में रचित एक ग्रंथ है, हिंदू संस्कृति के धार्मिक, सामाजिक, पारिवारिक, राजनीतिक, नैतिक और सांस्कृतिक पहलुओं के विभिन्न क्षेत्रों पर रामायण का मूल, सर्वव्यापी, सर्वशक्तिमान, निर्णायक और दूरगामी प्रभाव वेद है और भगवद गीता और शास्त्रों के प्रभाव से कई गुना अधिक जो मुख्य शास्त्र माने जाते हैं।

Download 2021 05 28t184430. 608

रामायण भारत के सर्वेक्षण शास्त्रों में सबसे लोकप्रिय ग्रंथ है और हिंदू धर्म के लोग अपने किसी भी अन्य ग्रंथ की तुलना में रामायण के बारे में अधिक जानते हैं।

रामायण भगवान विष्णु के सातवें अवतार श्री राम की जीवनी बताती है। इस रामकथा का हिंदू संस्कृति पर इतना गहरा और गहन प्रभाव पड़ा है कि इसके पात्र हर हिंदू परिवार के दैनिक जीवन का हिस्सा बन गए हैं।

भारत में बहुत से लोग राम और सीता शब्दों से अपना नाम प्राप्त करते हैं, मिलते या बिदाई करते समय ‘रामराम’ कहकर एक-दूसरे का अभिवादन करते हैं, आम बोलचाल में ‘राम’ शब्द पर आधारित कई कहावतों का प्रयोग करते हैं, राम के भजन गाते हैं और राम के रक्षक रामबन और दैनिक जीवन के अभ्यास में रामरोती जैसे कई शब्दों का प्रयोग किया जाता है।

इसके अलावा, राम और हनुमान के लाखों मंदिरों द्वारा, राम नवमी, दशहरा और दीवाली के त्योहारों और रामकथा, रामलीला और रावणधन के अवसरों द्वारा श्री राम की स्मृति को हमेशा जीवित रखा जाता है।

रामकथा के विषय पर हजारों किताबें लिखी गई हैं, कई नाटक लिखे और प्रस्तुत किए गए हैं, सैकड़ों फिल्में बनाई गई हैं और कई टीवी धारावाहिक बनाए गए हैं। कई चित्रकारों, मूर्तिकारों, संगीतकारों और नर्तकियों ने अपनी-अपनी कलाओं के माध्यम से रामकथा को विभिन्न रूपों में प्रस्तुत किया है।

भारत में रामायण की अपार लोकप्रियता का एक मजबूत प्रमाण यह है कि जब रामानंद सागर द्वारा प्रस्तुत रामायण टीवी धारावाहिक दूरदर्शन टीवी पर वर्ष 19 में प्रसारित किया गया था, तो इतने लोग टीवी देख रहे थे कि सड़कों पर कर्फ्यू लग रहा था। एक अनुमान के अनुसार उस समय दुनिया के ६ देशों में प्रसारित होने वाले इस टीवी सीरियल को कुल २ करोड़ दर्शकों ने देखा था!

यह रिकॉर्ड तोड़ने वाली प्रतिक्रिया इस तथ्य के कारण हो सकती है कि उस समय टीवी प्रसारण नया था, जिसके कारण टीवी श्रृंखला के पुन: प्रसारण के दौरान पिछले रिकॉर्ड को तोड़कर सबसे अधिक दर्शकों द्वारा विश्व रिकॉर्ड तोड़ा गया। 2020 में कोरोना महामारी लॉकडाउन। इस बार सीरियल को महज 3 दिनों में कुल 20 करोड़ दर्शक मिले!

रामायण – EP 1 – श्री राम भगवान्‌ का जन्म और बाललीला का आनंद

रामायण – EP 2 – दशरथ अपने चारों पुत्रों को अध्ययन हेतु महर्षि वशिष्ठ के आश्रम भेजा

रामायण – EP 3 – आश्रम में सामान्य शिष्यों की तरह पूर्णत: अनुशासन में रहकर शिक्षा ग्रहण की

रामायण – EP 4 – शिक्षा पूर्ण कर अयोध्या लौटे | विश्वामित्र का दशरथ से माँगना। ताड़का युद्ध

रामायण – EP 5 – ताड़का वध | विश्वामित्र-यज्ञ की रक्षा | अहल्या उद्धार

रामायण – EP 6 – राम-लक्ष्मण सहित विश्वामित्र जनकपुर प्रवेश | पुष्पवाटिका-निरीक्षण। सीताजी दर्शन

रामायण – EP 7 – सीता स्वयंवर | राजाओं से धनुष न उठना। जनक की निराशाजनक वाणी

रामायण – EP 8 – श्री राम द्वारा धनुषभंग | जयमाला पहनाना | परशुराम का आगमन व क्रोध

रामायण – EP 9 – दशरथजी के पास जनकजी का दूत भेजना | बारात का जनकपुर में आना और स्वागतादि

रामायण – EP 10 – श्री सीता-राम विवाह

रामायण – EP 11 – बारात विदाई | बारात का अयोध्या लौटना और अयोध्या में आनंद

रामायण – EP 12 – भरत-शत्रुघ्न कैकेयी प्रदेश जाते हैं| दशरथ राम को राजा बनाने का निर्णय लेते हैं।

रामायण – EP 13 – श्री राम के राज्याभिषेक की तैयारी| कैकेयी-मन्थरा संवाद |

रामायण – EP 14 – कैकेयी का कोप भवन में जाना | कैकेयी के दो वरदान |

रामायण – EP 15 – श्रीराम-कौशल्या संवाद | वन गमन की तैयारी |

रामायण – EP 16 – श्रीराम-सीता-लक्ष्मण का वन गमन |

रामायण – EP 17 – राम का श्रृंगवेरपुर पहुँचना | निषाद के द्वारा सेवा | सुमंत्र का लौटना |

रामायण – EP 18 – केवट का प्रेम और श्री राम का गंगा पार जाना |

रामायण – EP 19 – श्रीराम-वाल्मीकि संवाद | चित्रकूट में निवास |कोल-भीलों के द्वारा सेवा

रामायण – EP 20 – श्रवण कुमार प्रसंग | दशरथ मरण

रामायण – EP 21 – भरत-शत्रुघ्न का आगमन और शोक | भरत-कौशल्या संवाद |

रामायण – EP 22 – राजा दशरथ की अन्त्येष्टि | वशिष्ठ-भरत संवाद |

रामायण – EP 23 – भरत-शत्रुघ्न का वन गमन | भरत-निषाद मिलन | लक्ष्मणजी का क्रोध | राम भरत मिलाप |

रामायण – EP 24 – राम-लक्ष्मण द्वारा दशरथ की अन्त्येष्टि | राम-भरतादि संवाद

रामायण – EP 25 – जनक-वशिष्ठादि, राम-भरत-संवाद | पादुका प्रदान | भरत की बिदाई ।

रामायण – EP 26 – भरत का अयोध्या लौटना | पादुका स्थापना |नन्दिग्राम में निवास |

रामायण – EP 27 – सीता-अनसूया मिलन | पतिव्रत धर्म का ज्ञान | विराध वध | शरभंग प्रसंग

रामायण – EP 28 – राक्षस वध की प्रतिज्ञा करना | सुतीक्ष्णजी का प्रेम | महर्षि अगस्त्य का व्याख्यान

रामायण – EP 29 – अगस्त्य मिलन | जटायु मिलन | पंचवटी निवास | शूर्पणखा की कथा

रामायण – EP 30 – शूर्पणखा का खर-दूषण के पास जाना | खर-दूषणादि वध | रावण द्वारा शिव तांडव स्तोत्र |

रामायण – EP 31 – शूर्पणखा का रावण के पास जाना | मारीच प्रसंग

रामायण – EP 32 – स्वर्णमृग रूप मारीच का मारा जाना |लक्ष्‍मण रेखा | सीताहरण | जटायु-रावण युद्ध

रामायण – EP 33 – राम-लक्ष्मण सीता की खोज | जटायु का अंतिम संस्कार | अशोक वाटिका में सीताजी

रामायण – EP 34 – कबन्ध उद्धार | शबरी राम मिलन | शबरी पर कृपा |

रामायण – EP 35 – रामजी हनुमानजी मिलन | राम-लक्ष्मण को कंधे पर लेकर हनुमान सुग्रीव के पास लाए |

रामायण – EP 36 – श्री राम-सुग्रीव की मित्रता | सुग्रीव श्री राम को सीता माता की पोटली दिखाई |

रामायण – EP 37 – सुग्रीव का दुःख सुनाना | बालि वध की प्रतिज्ञा | रामजी का मित्र लक्षण वर्णन |

रामायण – EP 38 – बालि-सुग्रीव युद्ध | बालि उद्धार | तारा का विलाप |

रामायण – EP 39 – बाली का अंतिम संस्कार |

रामायण – EP 40 – सुग्रीव का राज्याभिषेक | अंगद को युवराज पद | सुग्रीव राजोल्लास में तल्लीन |

रामायण – EP 41 – राम की सुग्रीव पर नाराज़गी | लक्ष्मण जी का कोप | सीताजी की खोज में वानरों |

रामायण – EP 42 – तपस्विनी के दर्शन | समुद्र लाँघने का परामर्श | हनुमान्‌जी को बल याद दिलाना |

रामायण – EP 43 – हनुमान्‌जी का लंका को प्रस्थान | सुरसा से भेंट | लंकिनी वध | लंका में प्रवेश |

रामायण – EP 44 – रावण का सीताजी को भयभीत करना| सीता-हनुमान्‌ संवाद

रामायण – EP 45 – अशोक वाटिका विध्वंस |अक्षय कुमार वध | मेघनाद का हनुमान्‌ को नागपाश में बाँधना

रामायण – EP 46 – हनुमान्‌-रावण संवाद | लंकादहन|

रामायण – EP 47 – हनुमान का सीताजी से चूड़ामणि पाना | समुद्र पार लौटना | राम-हनुमान्‌ संवाद |

रामायण – EP 48 – श्रीराम का वानरों की सेना के साथ चलकर समुद्र तट पर पहुँचना

रामायण – EP 49 – रावण को विभीषण का समझाना | विभीषण का अपमान

रामायण – EP 50 – विभीषण का भगवान्‌ श्री रामजी की शरण के लिए प्रस्थान | शरण प्राप्ति|

रामायण – EP 51 – समुद्र पार करने के लिए विचार | श्री रामजी द्वारा वरुण देव उपासना|

रामायण – EP 52 – समुद्र पर रामजी का क्रोध | समुद्र की विनती | नल-नील द्वारा पुल बनाने का सुझाव|

रामायण – EP 53 – नल-नील द्वारा पुल बाँधना | श्री रामेश्वर की स्थापना | सेना सहित समुद्र पार उतरना|

रामायण – EP 54 – राम के बाण से रावण के मुकुट-छत्रादि गिरना | शूक और सारण का पकड़ा जाना |

रामायण – EP 55 – सुग्रीव और रावण का मल्ल युद्ध | मन्दोदरी का रावण को समझाना |

रामायण – EP 56 – अंगदजी का लंका जाना | रावण की सभा में अंगद-रावण संवाद |

रामायण – EP 57 – अंगद की चुनौती | माल्यवान का रावण को समझाना |

रामायण – EP 58 – मन्दोदरी का रावण को समझाना | अंगद-राम संवाद | युद्धारम्भ

रामायण – EP 59 – युद्ध में कई वीर योद्धा शहीद हुए

रामायण – EP 60 – रावण का युद्ध प्रस्थान | रावण का कुंभकरण को जगाने का आदेश|

रामायण – EP 61 – रावण का कुम्भकर्ण को जगाना| कुम्भकर्ण का रावण को उपदेश|

रामायण – EP 62 – कुम्भकर्ण का युद्ध प्रस्थान | विभीषण-कुम्भकर्ण संवाद| कुम्भकर्ण युद्ध और परमगति|

रामायण – EP 63 – रावण का कुम्भकर्ण वियोग | अतिकाय का लक्ष्मण को ललकारना | नरान्तक देवान्तक मृत्यु |

रामायण – EP 64 – अतिकाय की परमगति | मेघनाद का युद्ध में जाने का निर्णय |

रामायण – EP 65 – मेघनाद का युद्ध | राम और लक्ष्मण को नागपाश में बँधना |

रामायण – EP 66 – गरुड़ का पराक्रम | राम और लक्ष्मण को नागपाश से दिलवाई मुक्ति |

रामायण – EP 67 – लक्ष्मण मेघनाद युद्ध | आग्नेय बाण से लक्ष्मण मूर्छित।

रामायण – EP 68 – हनुमान का सुषेण वैद्य को लाना |संजीवनी बूटी लेने द्रोणागिरी पर्वत जाना |

रामायण – EP 69 – हनुमान का द्रोणागिरी पर्वत उठा के लाना | संजीवनी बूटी से लक्ष्मण का होश में आना |

रामायण – EP 70 – मेघनाद यज्ञ विध्वंस | लक्ष्मण मेघनाद युद्ध |

रामायण – EP 71 – लक्ष्मण मेघनाद युद्ध और मेघनाद उद्धार |

रामायण – EP 72 – युद्ध के लिए प्रस्थान | महर्षि अगस्त्य ने श्री राम को आदित्य हृदयम् मंत्र दिया |

रामायण – EP 73 – रावण का हनुमान और लक्ष्मण से युद्ध | राम-रावण युद्ध |

रामायण – EP 74 – इंद्र का श्री राम के लिए रथ भेजना | राम-रावण युद्ध |

रामायण – EP 75 – रावण वध | सर्वत्र जयध्वनि | विभीषण-मन्दोदरी-विलाप |

रामायण – EP 76 – रावण की अन्त्येष्टि| विभीषण राज्याभिषेक| सीताजी की अग्नि परीक्षा |

रामायण – EP 77 – श्री राम की अयोध्या वापसी । अयोध्या में दीपावली ।

रामायण – EP 78 – श्री राम का अपने परिवार से भेंट । श्री राम का राज्य अभिषेक |


उत्तर रामायण – EP 1 – श्री राम का राज्य को सम्भालना। हनुमान जी का सिना चीर कर राम सीता की छवि दिखाना

उत्तर रामायण – EP 2 – श्री राम जी की शोभा यात्रा । श्री राम ने किया मंथरा को माफ़

उत्तर रामायण – EP 3 – ब्रह्मा ने नारद मुनि को भेजा महाऋषि वाल्मीकि के पास । गरुड़ राज का टूटा अहंकार

उत्तर रामायण – EP 4 – महाऋषि वाल्मीकि और नारद समवाद । नारद मुनि ने ऋषि वाल्मीकि को सुनाई राम कथा

उत्तर रामायण – EP 5 – ब्रह्मा जी ने रामायण कथा लिखने के लिए महाऋषि वाल्मीकि को कहा

उत्तर रामायण – EP 6 – श्री राम मिले अपने गुप्तचरों से

उत्तर रामायण – EP 7 – श्री राम कागभुशुंड़ी लीला | माँ सीता के गर्भवती होने श्री राम हुए प्रसन

उत्तर रामायण – EP 8 – संतो का राजा राम की सभा में आगमन । गुप्तचर ने दी अज्ञात स्त्री की जानकारी

उत्तर रामायण – EP 9 – श्री राम भेष बदल नगर पहुँचे । माँ सीता प्रति लोगों के विचार सुन श्री राम दुखी

उत्तर रामायण – EP 10 – माँ सीता के प्रति प्रजा की सोच से दुःखी श्री राम गुरु वसिष्ठ के पास पहुँचे।

उत्तर रामायण – EP 11 – माँ सीता श्री राम से दूर जाने की आज्ञा माँगती हैं।

उत्तर रामायण – EP 12 – “माँ सीता साध्वी वेशभूषा धारण कर वन में जाने के करती है तैयारी।

उत्तर रामायण – EP 13 – माँ सीता आश्रम पहुँच जाती हैं।

उत्तर रामायण – EP 14 – राजा जनक श्री राम से मिलने आते हैं। राजा जनक, सीता द्वारा दी शपत का बताते हैं

उत्तर रामायण – EP 15 – राजा राम मिथिला नगरी जाते हैं। रानी सुनयना राम का स्वागत करती है।

उत्तर रामायण – EP 16 – महाऋषि अत्रि और दशरथ की राम के पुत्रों के भविष्य पर वार्ता

उत्तर रामायण – EP 17 – शत्रुघन बने मधुरा नगरी के राजा । श्री राम ने शत्रुघन को दिए दिव्य अस्त्र

उत्तर रामायण – EP 18 – शत्रुघन का मधुरा राज्य में जाना । लव कुश का जनम और नाम करण

उत्तर रामायण – EP 19 – शत्रुघन की मधुरा नगरी की ओर यात्रा शुरू होती है

उत्तर रामायण – EP 20 – ऋषि चवन ने शत्रुघन को सुनाई राजा मान्धाता की कहानी

उत्तर रामायण – EP 21 – लवणासुर का वध । मधुरा की प्रजा में राम राज की ख़ुशी

उत्तर रामायण – EP 22 – शत्रुघन का का राजतिलक । ऋषि वाल्मीकि ने बनायी लव कुश की जन्मपत्री

उत्तर रामायण – EP 23 – श्री राम को मुनि अगस्त्य ने दी भेंट । लव कुश और माँ सीता प्रसंग

उत्तर रामायण – EP 24 – महाऋषि वाल्मीकि ने लव कुश को धनुर विद्या का ज्ञान दिया

उत्तर रामायण – EP 25 – लव कुश और नागराज । ऋषि वाल्मीकि ने दिया संगीत का ज्ञान

उत्तर रामायण – EP 26 – रामायण सुन कुश को आया श्री राम पर क्रोध। अश्वमेध यज्ञ की शुरुआत

उत्तर रामायण – EP 27 – ऋषि वाल्मीकि द्वारा लव कुश की कुंडलिनी जागृत करना

उत्तर रामायण – EP 28 – श्रीराम का दूसरे विवाह से इनकार और माता सीता की स्वर्ण मूर्ति का निर्माण

उत्तर रामायण – EP 29 – राज माता कौशल्या का सीता को याद करना । वाल्मीकि ने लव कुश अस्त्र शास्त्र दिए

उत्तर रामायण – EP 30 – अश्वमेध यज्ञ शुरु होता है और अश्व की सुरक्षा के लिए शत्रुघन जाता है।

उत्तर रामायण – EP 31 – लव कुश का अश्वमेध यज्ञ का अश्व पकड़ना । लव कुश की श्री राम से युध की चुनौती

उत्तर रामायण – EP 32 – लव कुश का शत्रुघन से युध । लव ने शत्रुघन को किया घायल

उत्तर रामायण – EP 33 – लव कुश और लक्ष्मण के बीच युध । कुश लक्ष्मण को घायल कर देते हैं

उत्तर रामायण – EP 34 – लव कुश ने युध में हराया भरत सुग्रीव को और बंदी बनाया हनुमान जी को

उत्तर रामायण- EP 35 – श्रीराम लव कुश युध । माता सीता लव कुश को बताती हैं की श्रीराम ही उनके पिता हैं

Leave a Comment

My title page contents